Aaj kal ka ishq

आजकल का इश्क ” बस एक सौदा है मेरे दोस्त ,

आज तुझसे है ” कल किसी ओर से होगा . . .

तु चाहे कितनी भी मोहब्बत कर उससे ,

तेरे जज़्बातों के साथ खिलवाड़ हर रोज़ होगा ।

Leave a Comment