sabko mera sath acha lgta hai

hindi shayari sbko mera sath
Hindi shayari sbko mera sath

सबको मेरा साथ अच्छा लगता है
ए किस्मत कभी तु भी मेरा साथ दिया कर !!
Sabko mera sath acha lgta hai,
A kismat kbhi hu mera sath diya kar!!


वक्त से जरा पूछकर बताना . .
जख्म क्या वाकई भर जाते हैं !!
Waqt se jra puchakr btana
Jakhm kya bkhai bhr jate hai


रब ने पूछा तेरी हसरत क्या है.. !!!
मैंने कहा,”क़रार उसे भी न मिले जो हमें बेक़रार कर के गया”…
Rab ne pucha tere hasrat kya hai
Mene kaha krar use bhi na mile jo hume bekrar krke gya.


तेरे फैसले पर सवाल ना उठाऊं . .
यही मेरा इश्क़ है ….
Tere faisle par sawal na udhau..
Yhi mera ishq hai..


फर्क़ था हम दोनों की मोहब्बत में
मुझे उससे ही थी, और उसे मुझसे भी थीं !!
Fark tha hum dono ki Mohabbat mai,
Mujhe usse hi thi, or use mujhse bhi thi


एेसा नहीं कि तेरी जगह कोई और आ गया . .
लेकिन तेरा मुकाम अब तेरा भी ना रहा
Aisa nhi ki teri jhg koi or aa gya..
Lekin tera mukam ab tera bhi na raha..


पहले तुम ढंग से रोना, गिड़गिड़ाना तो सीख लो, . .
फिर बेहिचक चले आना मोहब्बत की गलियों में..।।
Phle tum dhang se rona, gidgidana to sikh lo,
Dir behichak chle aana mohabbat ki gliyo mai.

Leave a Comment