hindi shayari

चलो उसका नही तो खुदा का एहसान लेते हैं

चलो उसका नही तो खुदा का एहसान लेते हैं . . . वो मिन्नत से ना माना तो मन्नत से मांग लेते हैं . . दो रास्ते जींदगी के , दोस्ती और प्यार . ! एक जाम से भरा , …

Continue Readingचलो उसका नही तो खुदा का एहसान लेते हैं

hindi shayari

मेरी फ़ितरत में नहीं की अपना ग़म बायाँ करू

मेरी फ़ितरत में नहीं की अपना ग़म बायाँ करू. .अगर तेरे दिल का हिस्सा हु तो महसूस कर तकलीफ़ मेरी. बिछड़ी हुई राहों से जो गुज़रे हम कभी हर ग़म पर खोयी हुई एक याद मिली है ख़ुशियाँ तो गिन …

Continue Readingमेरी फ़ितरत में नहीं की अपना ग़म बायाँ करू

गुस्सा तुमसे करता हूँ अपना समझ के

hiगुस्सा तुमसे करता हूँ अपना समझ के, इस बात का डर लगता है, दूर न हो जाओ कही तुम मुझसे! दूर न होना मुझको तुम बेगाना समझ के, जीना मुश्किल हो जायेगा बिछुड़ के तुझसे! प्यार भी तुमसे, तकरार भी …

Continue Readingगुस्सा तुमसे करता हूँ अपना समझ के

hindi shayari

ज़िंदगी में अपनेपन का पौधा लगाने से पहले ज़मीन परख लेना.

ज़िंदगी में अपनेपन का पौधा लगाने से पहले ज़मीन परख लेना. हर एक मिट्टी की फितरत में वफ़ा नही होती. तुम्हारे इश्क़ के सुर्ख रंग से मिलकर! मेरे सपनों का आसमां भी इन्द्रधनुष हो गया है। बीच सफर में तुम …

Continue Readingज़िंदगी में अपनेपन का पौधा लगाने से पहले ज़मीन परख लेना.

hindi shayari in hindi

गुलशन की बहारों पे सर-ए-शाम लिखा है

गुलशन की बहारों पे सर-ए-शाम लिखा है, फिर उस ने किताबों पे मेरा नाम लिखा है, ये दर्द इसी तरह मेरी दुनिया में रहेगा, कुछ सोच के उस ने मेरा अंजाम लिखा है। आँखों में उमड़ आता है बादल बन …

Continue Readingगुलशन की बहारों पे सर-ए-शाम लिखा है

hindi shayari

इश्क करने वालों का यही हश्र होता है,

इश्क करने वालों का यही हश्र होता है, दर्द-ए-दिल होता है, रह रह के सीने में, बंद होंठ कुछ ना कुछ गुनगुनाते ही रहते हैं, खामोश निगाहों का भी गहरा असर होता है। हर ख़ुशी के पहलू हाथों से छूट …

Continue Readingइश्क करने वालों का यही हश्र होता है,