Koi tera saath de na de to koi gam

sad shayari
Sad shayari

कोई तेरा साथ दे न दे तो कोई ग़म ना करना,
खुद से बड़ा दुनिया में कोई हमसफ़र नहीं होता !!
Koi tera saath de na de to koi gam na karna
Khuda se bada duniya mai koi humsafar nhi hota


सुलगती रेत में पानी की अब तलाश नहीं
मगर ये मैंने कब कहा के मुझे प्यास नहीं…
Sulgti ret me pani mi ab talash nhi
Mgr ye maine kab kaha ke mujhe pyaas nhi


कुछ मोहब्बतें सही शख्स से..
गलत वक़्त पर गलत उम्र में हो जाती हैं 😭
Kuch mohabbat sahi saks se
Glt waqt par galat umr me ho jati hai


खूबसूरत वो पल था ..
लेकिन क्या करे वो कल था ..।।
Khubsurat vo pal tha
Lekin kya kare vo kal tha


रहमतों की कमी नहीं
‘ऊपरवाले’ के ख़ज़ाने में
झांकना खुद की झोली में है कि
कहीं कोई ‘सुराख’ तो नही !!
Rahmto ki kami nhi
Uperwale ke khajane me
Jhakne khud ki zholi me hai ki
Khi koi surakh to nhi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *