Jab chumta hai vo shaks mere mathe ki lakiron ko

love Shayari
Love shayari

जब चूमता है वो शख्स मेरे माथे की लकीरों को ,
तब भूल जाती हु में ज़िन्दगी की सारी उलझनों को ।
Jab chumta hai wo shaks mere mathe ki lakiron ko
Tab bhul jata hu me jindgi ki sari uljano ko (love shayari)


बिन बताये उसने क्या ये दूरी कर दी
बिछड़ के उसने मोहब्बत हमारी अधूरी कर दी ।
मेरे मुकदर में गम आया तो क्या हुआ
खुदा ने उसकी खविश पूरी कर दी ।
Bin bataye usne kyo ye doori kar di
Bichhad ke usne mohbbat hamari adhuri kardi
Mere muqdar me gam aya to kya huva
Khuda ne uski khavahis to puri kardi


कभी कभी मेरे दिल करता है की
बस तुझे भर लू अपनो bhao में ओर ढेर सारा प्यार करू ।
Kabhi kabhi mera dil krta he ki
Bas tuje bhar lu apni baho me or dher sara pyaar kru😘


एक रात तो गुजरती नही तेरे बिना ,
ज़िन्दगी क्या खाक गुजरेगी ।
Ek rat to gujrti nahi tere bina
zindagi kya khak gujregi


Love  shayari

एक पल का अहसास बन के आते हो तुम
दूसरे ही पल ख्वाब बन कर उड़ जाते हो तुम
जानते हो की लगता है दसर तनहाइयों से,
फिर भी बार बार तन्हा कर जाते हो तुम ।
Ek pal ka ahsas ban ke ate ho tum
Dusre hi pal khawab ban ke ud jate ho tum
Jante ho ke lgta he dar tanhaiyon se
Phir bhi bar bar tanha kar jate ho tum

 

Love shayari,itni fikar meri bhi nahi karta


मोहब्बत रब की तरफ से निमत है
जो अच्छे दिलो पर ही नाज़िल होती है
Mohbbat rab ki taraf se nimat he
Jo ache dilo par hi nazil hoti he

भूल तो वो भी गए कहते थे
तुम्हे तो चाह कर भी कोई नही भूल सकता
Bhul to wo bhi gye jo kehta the
Tumhe to chah kar bhi koi nahi bhul skta 🙂

Love shayari


फिर वही रात फिर वही याद फिर वही ख्वाब
ये तो बात दो कब आओगे मेरे पास ।
Fir wahi rat fir wahi yaad fir wahi khwaab
Ye to bata do kab aaugi mere pass

Leave a Comment