zindagi shayari

मोहब्बत नही थी तो एक बार समझाया तो होता

मोहब्बत नही थी तो एक बार समझाया तो होता . . बेचारा दिल तुम्हारी खामोशी को इश्क़ समझ बैठा । आज़ाद कर दूंगा तुमको अपनी मुहब्बत की कैद से , …

Read More