sad status

अब बस भी कर ज़ालिम, कुछ तो

अब बस भी कर ज़ालिम, कुछ तो रहम खा मुझ पर, चली जा मेरी नज़र से दूर कहीं मैं शायर ना बन जाऊं। ये तो बस वही जाने जिसके दिल पर गुजरी हो, तू क्या जाने दिल के दर्द और …

Continue Readingअब बस भी कर ज़ालिम, कुछ तो

sad status

उस शख्स में बात ही कुछ ऐसी थी

उस शख्स में बात ही कुछ ऐसी थी, हम अगर दिल न देते तो जान चली जाती। बड़ा ही दिलकश अंदाज है तुम्हारा, जी तो करता है कि फना हो जाऊं। तेरे हुस्न को किसी परदे की ज़रूरत ही क्या …

Continue Readingउस शख्स में बात ही कुछ ऐसी थी

sad status

कोई तेरे साथ नहीं है तो भी ग़म ना कर

कोई तेरे साथ नहीं है तो भी ग़म ना कर; ख़ुद से बढ़ कर दुनिया में कोई हमसफ़र नही होता हमें कोई ग़म नहीं था„ ग़म-ए-आशिकी से पहले… न थी दुश्मनी किसी से„ तेरी दोस्ती से पहले…!!! अंगुलिया टूट गई …

Continue Readingकोई तेरे साथ नहीं है तो भी ग़म ना कर

sad status

सबसे अच्छी थी कहानी मेरी

सबसे अच्छी थी कहानी मेरी.. पर अधूरी रह गई मोहब्बत मेरी.. जहां दुनिया जाना चाहती है…. मै वहां होकर आया हूं, इश्क मत करना दोस्तो…. मैं तबाह होकर आया हूं !! मिले कहीं मोड़ पे तो बताना उसको… उसके शायर …

Continue Readingसबसे अच्छी थी कहानी मेरी

sad status

बस तुम्हें पाने की तमन्ना नहीं रही .

बस तुम्हें पाने की तमन्ना नहीं रही . मोहब्बत तो आज भी तुमसे बेशुमार करते हैं . इन्सान सब कुछ कॉपी कर सकता हैं . लेकिन किस्मत और नसीब नही . कभी रजामंदी , तो कभी बगावत है इश्क . …

Continue Readingबस तुम्हें पाने की तमन्ना नहीं रही .